दुनिया का सबसे लम्बा इंसान। Duniya Ka Sabse Lamba Aadmi

Duniya Ka Sabse Bada Aadmi

Duniya Ka Sabse Lamba Aadmi

दोस्तों क्या आपको पता हैं की दुनिया का सबसे लम्बा आदमी कौन हैं दुनिया का सबसे लम्बा आदमी तुर्की के सुल्तान कोसेन हैं सुल्तान कोसेन का जन्म 10 दिसम्बर 1982 को तुर्की के एक किसान परिवार में हुआ था गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड्स के अनुसार जीवित सबसे लम्बे आदमी है। इनकी लम्बाई 251 सेंटीमीटर (8 फीट 2.8 इंच) हैं इनका वजन 137 किलोग्राम हैं
Duniya Ka Sabse Bada Aadmi

अगर इतिहास मतलब आज तक का सबसे लम्बे आदमी की बात करें तो दुनिया का सबसे लम्बा इंसान का रिकॉर्ड रोबर्ट वाडलो के नाम है वाडलो का जन्म एडी जॉनसन और हेरोल्ड वाडलो की संतान के रूप में 22 फरवरी 1918 को इलेनॉइस के एल्टन में हुआ और अपने माता-पिता की पांच संतानों में वे सबसे बड़े थे। इनकी लम्बाई 8 फीट 11 इंच थी लेकिन इनकी 22 साल की उम्र में मौत हो गई थी

यह भी पढ़ें:-


निवेदन: - आप अपने comments के माध्यम से बताएं कि Duniya Ka Sabse Lamba Aadmi आपको कैसा लगा। और इसे अपने Facebook Friends के साथ Share जरुर करे।

कंप्यूटर की खोज किसने की थी। Computer Ki Khoj Kisne Ki

Computer Ka Avishkar Kisne Kiya Tha

Computer Ki Khoj Kisne Ki

दोस्तों आज के समय में कंप्यूटर हमारी रोजमर्रा की जिन्दगी का एक हिस्सा बन गया हैं लेकिन क्या आपको पता हैं की कंप्यूटर की खोज किसने की थी तो हम आपको बता दें की कंप्यूटर का अविष्कारक Charles Babbage को माना जाता हैं सबसे पहले Charles Babbage ने ही programmable computer का डिज़ाइन तैयार किया था 1822 में इन्होने “डिफरेंशिअल इंजन” नाम का मैकेनिकल कंप्यूटर का अविष्कार किया था

कंप्यूटर का अविष्कारक Charles Babbage को माना जाता हैं

Computer Ka Avishkar Kisne Kiya Tha

1938 में United States Navy ने इलेक्ट्रो मैकेनिकल कंप्यूटर बनाया था जिसका नाम Torpedo Data Computer था 1939 में Konrad Zuse ने Z2 कंप्यूटर बनाया जिसमे वैक्यूम ट्यूब्स का इस्तेमाल किया गया शुरूआती दौर में कंप्यूटर का आकार बहुत ही बड़ा था विश्व का पहला Desktop Personal कंप्यूटर Italian Company Olivetti ने 1964 में बनाया था जिसकी कीमत उस समय 3200 डॉलर था 

यह भी पढ़ें:-

निवेदन: - आप अपने comments के माध्यम से बताएं कि Computer Ki Khoj Kisne Ki, Computer Ka Aviskar Kisne Kiya आपको कैसा लगा। और इसे अपने Facebook Friends के साथ Share जरुर करे।

भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन। Bharat Ka Sabse Bada Railway Station

India Ka Sabse Bada Railway Station

Bharat Ka Sabse Bada Railway Station

भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन कौन हैं उसका नाम क्या हैं दोस्तों हम आपको बता दें की भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन लम्बाई में गोरखपुर रेलवे स्टेशन हैं जो उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित हैं यह भारत का ही नहीं दुनिया का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन हैं लम्बाई के आधार पर इस स्टेशन का नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड एवं लिमका बुक में भी दर्ज हैं इस स्टेशन की प्लेटफार्म की लम्बाई 1.34 किलोमीटर (0.84) मील हैं

विश्व के सबसे लंबे रेलवे प्लेटफार्म

1. गोरखपुर रेलवे स्टेशन (उत्तर प्रदेश) - 1.34 किलोमीटर
2. कोल्लम जंक्शन रेलवे स्टेशन (केरल) - 1.18 किलोमीटर
3. खड़गपुर (पश्चिम बंगाल) - 1.07 किलोमीटर
4. स्टेट स्ट्रीट सेंटर सबवे स्टेशन (शिकागो, यूएसए) - 1. 06 किलोमीटर
5. चेरिटन शटल टर्मिनल (लोकगीत, यूनाइटेड किंगडम) - 0.7 किलोमीटर


India Ka Sabse Bada Railway Station

प्लेटफार्म की संख्या के आधार पर भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन हावड़ा हैं यह भारत का सबसे ज्यादा व्यस्त स्टेशन भी हैं यह स्टेशन हुगली नदी के पश्चिमी तट पर स्थित हैं हावड़ा स्टेशन पर 23 प्लेटफार्म, 26 ट्रेक और 2 टर्मिनल हैं जो एक लाख से ज्यादा यात्रियों को रोज सेवा प्रदान करता हैं

भारत के बड़े रेलवे स्टेशन

1. हावड़ा, हावड़ा - 23 प्लेटफार्म
2. सियालदाह, कोलकाता - 20 प्लेटफार्म
3. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस, मुंबई - 18 प्लेटफार्म
4. नई दिल्ली जंक्शन - 16 प्लेटफॉर्म
5. चेन्नई सेंट्रल जंक्शन - 15 प्लेटफॉर्म

यह भी पढ़ें:-


निवेदन: - आप अपने comments के माध्यम से बताएं कि Bharat Ka Sabse Bada Railway Station, India Ka Sabse Bada Railway Station आपको कैसा लगा। और इसे अपने Facebook Friends के साथ Share जरुर करे।

भारत में कितने राज्य हैं। Bharat Me Kitne Rajya Hai

भारत के राज्य और उनकी राजधानी 
Bharat Ke Rajya Aur Unki Rajdhani

Bharat Me Kitne Rajya Hai

भारत में कितने राज्य हैं यह प्रश्न अक्सर प्रतियोगिता परीक्षाओं में पूछा जाता हैं तो हम आपको बता दें की इस समय वर्तमान में भारत में कुल राज्य की संख्या 29 हैं और केन्द्रशासित प्रदेशों की संख्या 7 हैं आइये जानते हैं भारत के 29 राज्यों के नाम और उनकी राजधानी कहाँ हैं

भारत के 29 राज्यों का नाम - Bharat Ke Rajya Aur Unki Rajdhani

राज्य का नाम                       राजधानी 
 1. आंध्र प्रदेश                       अम्रवाठी 
 2. अरुणाचल                       प्रदेश ईटानगर 
 3. असम                              दिसपुर 
 4. बिहार                               पटना 
 5. छत्तीसगढ़                       रायपुर 
 6. गोवा                                पणजी 
 7. गुजरात                            गांधीनगर 
 8. हरियाणा                          चंडीगढ़ 
 9. हिमाचल                          शिमला 
 10. जम्मू-कश्मीर                श्रीनगर 
 11. झारखंड                         रांची 
 12. कर्नाटक                        बंगलोरे 
 13. केरल                            तिरुवनंतपुरम 
 14. मध्य प्रदेश                    भोपाल 
 15. महाराष्ट्र                       मुंबई 
 16. मणिपुर                         इम्फाल 
 17. मेघालय                        शिल्लोंग 
 18. मिजोरम                       एजव्ल 
 19. नगालैंड                        कोहिमा 
 20. उड़ीसा                          भुवनेश्वर 
 21. पंजाब                           चंडीगढ़ 
 22. राजस्थान                     जयपुर 
 23. सिक्किम                      गंगटोक 
 24. तमिलनाडु                     चेन्नई 
 25. तेलंगाना                        हैदराबाद 
 26. त्रिपुरा                            अगरतला 
 27. उत्तराखंड                      देहरादून 
 28. उत्तर प्रदेश                    लखनऊ 
 29. पश्चिम बंगाल                कोलकाता

भारत के केन्द्र शासित प्रदेश का नाम

1. अंडमान निकोबार 
2. चंडीगढ़ 
3. दादरा-नगर हवेली 
4. दमण-दीव 
5. लक्षद्वीप 
6. दिल्ली 
7. पुदुच्चेरी

यह भी पढ़ें:-

निवेदन: - आप अपने comments के माध्यम से बताएं कि Bharat Ke Rajya Aur Unki Rajdhani, India Me Kitne Rajya Hai आपको कैसा लगा। और इसे अपने Facebook Friends के साथ Share जरुर करे।

सबसे ज्यादा बार राष्ट्रपति शासन किस राज्य मे लगा है।

Sabse Jyada Rashtrapati Shasan Kis Rajya Mein Laga

Sabse Jyada Rashtrapati Shasan Kis Rajya Mein Laga

भारत में अब तक सबसे ज्यादा बार राष्ट्रपति शासन किस राज्य में लागु किया गया हैं अभी तक मणिपुर राज्य में सर्वाधिक 10 बार राष्ट्रपति शासन लागु हो चुका है।

मणिपुर में कब – कब राष्ट्रपति शासन लागु हुआ

1. 12 जनवरी 1967
2. 25 अक्टूबर 1967
3. 17 अक्टूबर 1969
4. 28 मार्च 1973
5. 16 मई 1977
6. 14 नवंबर 1979
7. 28 फरवरी 1981
8. 7 फरवरी 1992
9. 31 दिसंबर 1993
10. जून 2001

राष्ट्रपति शासन :-

जब किसी राज्य को भंग या निलंबित कर दिया जाता हैं और राज्य प्रत्यक्ष संघीय शासन के अधीन आ जाता हैं भारत के संविधान का अनुच्छेद – 356, केंद्र की संघीय सरकार को राज्य में संवैधानिक तंत्र की विफलता या संविधान के उल्लंघन की दशा में उस राज्य सरकार को बर्खास्त कर उस राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू करने का अधिकार देता है। राज्य का नियंत्रण भारत के राष्ट्रपति के अधीन आ जाता है, लेकिन प्रशासनिक दृष्टि से राज्य के राज्यपाल को केंद्रीय सरकार द्वारा कार्यकारी अधिकार प्रदान किये जाते हैं।

यह भी पढ़ें:-


निवेदन: - आप अपने comments के माध्यम से बताएं कि Sabse Jyada Rashtrapati Shasan Kis Rajya Mein Laga आपको कैसा लगा। और इसे अपने Facebook Friends के साथ Share जरुर करे।

प्लांड इकोनॉमी फॉर इंडिया पुस्तक के लेखक कौन है?

प्लांड इकोनॉमी फॉर इंडिया पुस्तक के लेखक का नाम क्या हैं


प्लांड इकोनॉमी फॉर इंडिया पुस्तक के लेखक का नाम क्या हैं

प्लांड इकोनॉमी फॉर इंडिया पुस्तक के लेखक का नाम क्या हैं अक्सर यह प्रश्न प्रतियोगिता परीक्षाओं में पूछा जाता हैं तो इसका सही जवाब हैं “एम. विश्वेश्वरैया” ने यह पुस्तक 1934 में लिखी थी

प्लांड इकोनॉमी फॉर इंडिया पुस्तक के लेखक का नाम एम. विश्वेश्वरैया इनका पूरा नाम डॉ॰ मोक्षगुण्डम विश्वेश्वरैया हैं
प्लांड इकोनॉमी फॉर इंडिया पुस्तक के लेखक कौन है

भारत रत्न से सम्मानित एम. विश्वेश्वरैया इनका पूरा नाम डॉ॰ मोक्षगुण्डम विश्वेश्वरैया हैं इनका जन्म 15 सितम्बर 1861 में कर्नाटक के कोलार जिले के एक तेलुगु परिवार में हुआ था यह एक प्रसिद्ध इंजीनियर थे कर्नाटक, मैसूर को एक विकसित एवं समृद्धशाली क्षेत्र बानाने में एम. विश्वेश्वरैया का अभूतपूर्व योगदान हैं भारत में उनका जन्म अभियंता दिवस के रूप में मनाया जाता हैं तकरीबन 55 वर्ष पहले जब देश स्वंतत्र नहीं था, तब कृष्णराजसागर बांध, भद्रावती आयरन एंड स्टील व‌र्क्स, मैसूर संदल ऑयल एंड सोप फैक्टरी, मैसूर विश्वविद्यालय, बैंक ऑफ मैसूर समेत अन्य कई महान उपलब्धियां एम. विश्वेश्वरैया के कड़े प्रयास से ही संभव हो पाई। इसीलिए इन्हें कर्नाटक का भगीरथ भी कहते हैं।

यह भी पढ़ें:-


निवेदन: - आप अपने comments के माध्यम से बताएं कि प्लांड इकोनॉमी फॉर इंडिया पुस्तक के लेखक कौन है? आपको कैसा लगा। और इसे अपने Facebook Friends के साथ Share जरुर करे