Total Pageviews

Blog Archive

Search This Blog

रबीन्द्रनाथ टैगोर के अनमोल विचार | Rabindranath Tagore Quotes in Hindi

Rabindranath Tagore Quotes in Hindi, Rabindranath Tagore in Hindi, Rabindranath Tagore Thoughts in Hindi, Famous Quotes of Tabindranath Tagore, Inspirational Quotes in Hindi.
Share it:

Rabindranath Tagore Quotes in Hindi 

 रबिन्द्रनाथ टैगोर के अनमोल विचार और कथन
Rabindranath Tagore Quotes in Hindi

Quote 1: हर एक कठिनाई जिससे आप मुंह मोड़ लेते हैं, एक भूत बन कर आपकी नीद में बाधा डालेगी।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 2: हमेशा तर्क करने वाला दिमाग धार वाला वह चाकू है जो प्रयोग करने वाले के हाथ से ही खून निकाल देता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 3: हमारा मन पोथियों के ढेर में और शरीर असबाब से दब गया है, जिससे हमें आत्मा के दरवाजे-जंगले दिखाई नहीं देते।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 4: हम स्वतंत्रता तब हासिल करते हैं जब हम उसकी पूरी कीमत चुका देते हैं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 5: हम महानता के सबसे करीब तब आते हैं जब हम विनम्रता में महान होते हैं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 6: हम दुनिया में तब जीते हैं जब हम उसे प्रेम करते हैं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 7: स्वर्ण कहता है मुझे न तो आग में तपाने से दुःख होता है, न काटने पीटने से और न कसौटी पर कसने से। मेरे लिए तो जो महान दुःख का कारण है,वह है घुंघची के साथ मुझे तौलना।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 8: सिर्फ खड़े होकर पानी को ताकते रहने से आप समुंद्र को पार नहीं कर सकते।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 9: समय परिवर्तन का धन है। परन्तु घड़ी उसे केवल परिवर्तन के रूप में दिखाती है, धन के रूप में नहीं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 10: सच्ची आध्यात्मिकता, जिसकी शिक्षा हमारे पवित्र ग्रंथों में दी हुई है, वह शक्ति है, जो अन्दर और बाहर के पारस्परिक शांतिपूर्ण संतुलन से निर्मित होती है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 11: संगीत दो आत्माओं के बीच के अन्तर को भरता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 12: वे लोग जो अच्छाई करने में बहुत ज्यादा व्यस्त होते है, स्वयं अच्छा होने के लिए समय ही नहीं निकाल पाते।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर
Rabindranath Tagore in Hindi


Quote 13: विश्वास वह पक्षी है जो प्रभात के पूर्व अंधकार में ही प्रकाश का अनुभव करता है और गाने लगता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 14: यदि आप सभी गलतियों के लिए दरवाजे बंद कर देंगे तो सच अपने आप बाहर रह जायेगा।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 15: यदि आप रोते हो क्योंकि सूरज आपके जीवन से बाहर चला गया है और आपके आँसू आपको सितारों को देखने के लिए रोकेंगे।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 16: मौत प्रकाश को ख़त्म करना नहीं है; ये सिर्फ भोर होने पर दीपक बुझाना है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 17: मैंने स्वप्न देखा कि जीवन आनंद है। मैं जागा और पाया कि जीवन सेवा है। मैंने सेवा की और पाया कि सेवा में ही आनंद है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 18: मैं तुझसे आकाश, प्रकाश, मन, प्राण किसी की भिक्षा नहीं मांगता। केवल यही चाहता हूँ कि मुझे प्रतिदिन लालसाओं से बचने योग्य बना दे, यही मेरे लिए तेरा महादान होगा।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 19: मैं एक आशावादी होने का अपना ही संस्करण बन गया हूँ। यदि मैं एक दरवाजे से नहीं जा पाता तो दुसरे से जाऊंगा या एक नया दरवाजा बनाऊंगा। वर्तमान चाहे जितना भी अंधकारमय हो कुछ शानदार सामने आएगा ही।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 20: मुखर होना आसान है जब आप पूर्ण सत्य बोलने की प्रतीक्षा नहीं करते।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 21: मित्रता की गहराई परिचय की लम्बाई पर निर्भर नहीं करती।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 22: मिटटी के बंधन से मुक्ति पेड़ के लिए आज़ादी नहीं है
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 23: मनुष्य जीवन महानदी की भांति है जो अपने बहाव द्वारा नवीन दिशाओं में राह बना लेती है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 24: मन जहाँ डर से परे है और सिर जहाँ ऊँचा है, ज्ञान जहाँ मुक्त है और जहाँ दुनिया को संकीर्ण घरेलु दीवारों से छोटे-छोटे टुकड़ों में बांटा नहीं गया है, जहाँ शब्द सच की गहराइयों से निकलते हैं, जहाँ थकी हुई प्रयासरत बाहें त्रुटिहीनता की तलाश में हैं, जहाँ कारण की स्पष्ट धारा है, जो सुनसान रेतीले मृत आदत के वीराने में अपना रास्ता खो नहीं चुकी है, जहाँ मन हमेशा व्यापक होते विचार और सक्रियता में तुम्हारे जरिये आगे चलता है, और आज़ादी के स्वर्ग में पहुँच जाता है। ओ पिता! मेरे देश को जागृत बनाओं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 25: मत बोलो, ‘यह सुबह है’, और इसे कल के नाम के साथ खारिज मत करो। इसे एक newborn child की तरह देखो जिसका अभी कोई नाम नहीं है
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 26: मंदिर की गंभीर उदासी से बाहर भागकर बच्चे धूल में बैठते हैं, भगवान् उन्हें खेलता देखते हैं और पुजारी को भूल जाता हैं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 27: बीज के ह्रदय में प्रतीक्षा करता हुआ विश्वास जीवन में एक महान आश्चर्य का वादा करता है, जिसे वह उसी समय सिद्ध नहीं कर सकता।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 28: बर्तन में रखा पानी हमेशा चमकता है और समुद्र का पानी हमेशा गहरे रंग (अस्पष्ट) का होता है। लघु सत्य के शब्द हमेशा स्पष्ठ होते हैं, महान सत्य मौन रहता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 29: फूल की पंखुड़ियों को तोड़ कर आप उसकी सुंदरता को इकठ्ठा नहीं कर सकते।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 30: प्रेम ही एक मात्र वास्तविकता है, ये महज एक भावना नहीं है अपितु यह एक परम सत्य है जो सृजन के समय से ह्रदय में वास करता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 31: प्रेम अधिकार का दावा नहीं करता, बल्कि स्वतंत्रता प्रदान करता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 32: प्रसन्न रहना बहुत सरल है, लेकिन सरल होना बहुत कठिन है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 33: प्रत्येक शिशु यह संदेश लेकर आता है कि ईश्वर अभी मनुष्यों से निराश नहीं हुआ है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 34: पृथ्वी द्वारा स्वर्ग से बोलने का अथक प्रयास हैं ये पेड़।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 35: धूल स्वयं अपमान सह लेती है ओर बदले में फूलों का उपहार देती है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 36: देश का जो आत्माभिमान, हमारी शक्ति को आगे बढ़ाता है, वह प्रशंसनीय है। पर जो आत्माभिमान हमें पीछे खींचता है, वह सिर्फ खूंटे से बांधता है, यह धिक्कारनीय है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 37: तितली महीने नहीं क्षण गिनती है, और उसके पास पर्याप्त समय होता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 38: तर्कों की झड़ी, तर्कों की धूलि और अन्धबुद्धि। ये सब आकुल व्याकुल होकर लौट जाती है, किन्तु विश्वास तो अपने अन्दर ही निवास करता है, उसे किसी प्रकार का भय नहीं है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 39: तथ्य कई हैं, लेकिन सच एक ही है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 40: जो मन की पीड़ा को स्पष्ट रूप में नहीं कह सकता, उसी को क्रोध अधिक आता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 41: जो कुछ हमारा है, वो हम तक तभी पहुँच पाता हैं जब हम उसे ग्रहण करने की क्षमता विकसित करते हैं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 42: जो आत्मा शरीर में रहती है, वही ईश्वर है और चेतना रूप से विवेक के द्वारा शरीर के सभी अंगो से काम करवाती हैं। लोग उस अन्तर्देव को भूल जाते हैं और दौड़-दौड़ कर तीर्थों में जाते हैं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 43: जीवन हमें दिया गया है, हम इसे देकर कमाते हैं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 44: जिस तरह घोंसला सोती हुई चिड़ियाँ को आश्रय देता है उसी तरह मौन तुम्हारी वाणी को आश्रय देता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 45: जिनके स्वामित्व बहुत होता है उनके पास डरने को बहुत कुछ होता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 46: जब मैं खुद पर हँसता हूँ तो मेरे ऊपर से मेरा बोझ कम हो जाता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 47: चंद्रमा अपना प्रकाश संपूर्ण आकाश में फैलाता है परंतु अपना कलंक अपने ही पास रखता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 48: केवल प्रेम ही वास्तविकता है, ये महज एक भावना नहीं है। यह एक परम सत्य है जो सृजन के ह्रदय में वास करता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 49: किसी बच्चे की शिक्षा अपने ज्ञान तक सीमित मत रखिये, क्योंकि वह किसी और समय में पैदा हुआ है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 50: कलाकार प्रकृति का प्रेमी है अत: वह उसका दास भी है और स्वामी भी।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 51: कला में व्यक्ति खुद को उजागर करता है कलाकृति को नहीं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 52: कला क्या है? यह इंसान की रचनात्मक आत्मा की यथार्थ के पुकार के प्रति प्रतिक्रिया है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 53: कला के मध्यम से व्यक्ति खुद को उजागर करता है अपनी वस्तुओं को नहीं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 54: कट्टरता सच को उन हाथों में सुरक्षित रखने की कोशिश करती है, जो उसे मारना चाहते हैं।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 55: उपदेश देना सरल है, पर उपाय बताना कठिन।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 56: उच्चतम शिक्षा वो है, जो हमें सिर्फ जानकारी ही नहीं देती, बल्कि हमारे जीवन को समस्त अस्तित्व के साथ सद्भाव भी लाती है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 57: आस्था वो पक्षी है, जो भोर के अँधेरे में भी उजाले को महसूस करती है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 58: आश्रय के एवज में यदि आश्रितों से काम ही लिया गया, तो वह नौकरी से भी बदतर है। उससे आश्रयदान का महत्त्व ही जाता रहता है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 59: आयु सोचती है, जवानी करती है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 60: आपकी मूर्ति का टूट कर धूल में मिल जाना, इस बात को साबित करता है कि इश्वर की धूल आपकी मूर्ति से महान है।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 61: आईये हम यह प्रार्थना न करें कि हमारे ऊपर खतरे न आएं, बल्कि यह प्रार्थना करें कि हम उनका निडरता से सामना कर सकें।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर

Quote 62: अकेले फूल को, कई काँटों से इर्ष्या करने की ज़रुरत नहीं होती।
Rabindranath Tagore रबिन्द्रनाथ टैगोर
यह भी पढ़ें:-

Note: - आप अपने comments के माध्यम से बताएं कि Rabindranath Tagore Quotes in Hindi आपको कैसा लगा।
Share it:

Hindi Quotes

Post A Comment:

0 comments: