Total Pageviews

Blog Archive

Search This Blog

श्री श्री रवि शंकर के प्रेरणादायक विचार | Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi

Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi, Inspirational Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi, Motivational Quotes in Hindi, Life Quotes in Hindi, Positive Thoughts in Hindi.
Share it:

Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi 

श्री श्री रवि शंकर के अनमोल विचार

Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi

Quote 1: तुम्हे सर्वोच्च आशीर्वाद दिया गया है, इस ग्रह का सबसे अनमोल ज्ञान दिया गया है। तुम दिव्य हो; तुम परमात्मा का हिस्सा हो। विश्वास के साथ बढ़ो। यह अहंकार नहीं है। यह पुन: प्रेम है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 2: थोड़ा समय निकाल कर अपने भीतर मौन में जाओ, तुम उससे बोहत सारा बल पाओगे, तुम्हारी शोभा अनन्त बनेगी और प्रेम अप्रबंधित हो जाएगा हमारी चेतना का स्वभाव ही यही है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 3: जब तुम जीवन को ही पूजा मानते हो तो, प्रकृति तुम्हारी सभी इच्छाएं पूरी करती है!
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 4: अनंत मतलब सिमित चीजो या बातो को व्याप्त करना या विस्तृत करना है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 5: तुम्हारे अन्दर कोई भावना आई, अप्रिय भावना, और तुमने कहा, नहीं आनी चाहिए, ये फिर से नहीं आनी चाहिए। ऐसा करके तुम उसका विरोध कर रहे हो। जब तुम विरोध करते हो, वो कायम रहती है। बस देखो, ओह! उसकी गहराई में जाओ। नाचो; अपने पैरों पर खड़े हो और नाचो। मस्ती में रहो; मस्ती में चलो।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 6: स्वयं अध्यन कर के, देख कर, खोखले और खली होकर, तुम एक माध्यम बन जाते हो – तुम परमात्मा का अंश बन जाते हो। तुम देवत्त्व की उपस्थिति को महसूस कर सकते हो। सभी स्वर्गदूत और देवता, हमारी चेतना के ये विभिन्न रूप खिलने लगते हैं।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 7: तो क्या अगर कोई तुम्हे पहचानता है ओह, तुम एक शानदार व्यक्ति हो तो क्या? उस व्यक्ति के दिमाग में वो विचार आया और गया। वह भी ख़त्म हो गया। वो विचार चला गया। हो सकता है कि कुछ दिन, कुछ महीने वो तुम्हारे प्रति आकर्षित रहे, तो क्या? वो भी चला जाता है, ये भी चला जाता है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 8: मै आपको बताता हु की, आपके मस्तिष्क के अलावा कोई भी दुसरी चीज़ आपको परेशान नही कर सकती। हा, भले ही आपको ऐसा दिखाई देंगा की दुसरे आपको परेशान कर रहे हो लेकिन वह आपका मस्तिष्क ही होंगा।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 9: प्यार में कभी गिरना नही चाहिये, प्यार में हमेशा आगे बढ़ना चाहिये।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 10: उस बात के लिए गुस्सा होना जो पहले से ही हो चुकी है, इसका कोई अर्थ नही है। आप हमेशा अपनी तरफ से पूरी कोशिश करते हो, नही करते तो बस आप घटित घटना को नए नजरिये से नही देखते।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 11: यदि कोई आपको सबसे ज्यादा ख़ुशी दे सकता है तो वह आपको दुःख भी दे सकता है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 12: जिनमे कोई यह नही जानता की एक दोस्त कब दुश्मन बन जाये या दुश्मन कब दोस्त बन जाये। इसीलिए हमेशा खुद पर भरोसा रखे।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 13: जीवन प्रकृति के बनाये नियमो पर चलता है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 14: चिंता करने से आपके जीवन में कोई बदलाव नही होंगा लेकिन काम करने से जरुर आप अपने आप को मजबूत बना सकते हो।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर
Inspirational Sri Sri Ravi Shankar Quotes In Hindi


Quote 15: ज्ञान बोझ है यदि वह आपके भोलेपन को छीनता है। ज्ञान बोझ है यदि वह आपके जीवन में एकीकृत नही है। ज्ञान बोझ है यदि वह प्रसन्नता नही लाता। ज्ञान बोझ है यदि वह आपको यह विचार देता है की आप बुद्धिमान है। ज्ञान बोझ है यदि वह आपको स्वतंत्र नही करता। ज्ञान बोझ है यदि वह आपको ये प्रतीत कराता है की आप विशेष है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 16: यदि आप खुद के दिमाग पर काबू पा सकते हो, तो आपमें पूरी दुनिया को जितने की काबिलियत है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 17: कार्य करना और आराम करना जीवन के दो मुख्य अंग है। इनमे संतुलन स्थापित करने के लिए अपनी योग्यता का उपयोग करना चाहिये।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 18: अस्वीकृति का मतलब अपने आप में ही सिमित रहना है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 19: शाश्वत इंतज़ार, अनंत धैर्य का होना बहोत जरुरी है। क्योकि जब आपके पास अनंत धैर्य होता है, तब आपको अपने पीछे भगवान को अनुभूति होती है। जबकी सतत प्रयास और कोशिश करते रहने से भी आप इसी जगह पर पहोच सकते हो।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 20: हम अपने गुस्से को क्यों काबु में नही करते? क्योकि हमें पूर्णता से प्यार है। इसीलिए जीवन में थोड़ी सी जगह अपूर्णता को भी दे तभी आप अपने गुस्से पर काबू पा सकते हो।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 21: प्यार का रास्ता कोई उबाऊ रास्ता नही है। बल्कि ये तो मस्ती का मार्ग है। ये गाने का और नाचने का सबसे अच्छा मार्ग है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 22: तुम अलोकिक हो। तुम मेरा हिस्सा हो। मैं तुम्हारा हिस्सा हूँ।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 23: अगर तुम लोगो का भला करते हो तो यह तुम अपनी प्रकृति की वजह से करते हो।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 24: जब आप अपना दुःख बांटते हैं तो वह कम नहीं होता। जब आप अपनी ख़ुशी बांटने से रह जाते हैं, वो कम हो जाती है। अपनी समस्याओं को सिर्फ ईश्वर से साझा करें और किसी से नहीं क्योंकि ऐसा करना सिर्फ आपकी समस्या को बढ़ाएगा।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 25: दूसरों को आकर्षित करने में काफी उर्जा बर्बाद होती है और दूसरों को आकर्षित करने की चाहत में - मैं बताता हूँ, विपरीत होता है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 26: हर एक चीज के पीछे तुम्हारा अहंकार है, मैं, मैं, मैं, मैं लेकिन सेवा में कोई मैं नहीं है क्योंकि यह किसी और के लिए करनी होती है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 27: स्वर्ग से कितना दूर? बस अपनी आँखें खोलो और देखो, तुम स्वर्ग में हो।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 28: अपने कार्य के पीछे की मंशा को देखो। अक्सर तुम उस चीज को पाना नहीं चाहते जो तुम्हें सच में चाहिए।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 29: एक निर्धन व्यक्ति नया साल वर्ष में एक बार मनाता है। एक धनाड्य व्यक्ति हर दिन, लेकिन जो सबसे समृद्ध होता है वह हर क्षण मनाता है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 30: बुद्धिमान वो हैं जो औरों की गलती से सीखता है। थोड़ा कम बुद्धिमान वो है जो सिर्फ अपनी गलती से सीखता है। मूर्ख एक ही गलती बार-बार दोहराते रहते हैं और उनसे कभी सीख नहीं लेते।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 31: हमेशा आराम की चाहत में, तुम आलसी हो जाते हो। हमेशा पूर्णता की चाहत में, तुम क्रोधित हो जाते हो। हमेशा अमीर बनने की चाहत में, तुम लालची हो जाते हो।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 32: इच्छा हमेशा "मैं" पर लटकती रहती है, जब हम मैं को त्याग देते हैं, तब इच्छा समाप्त वा औझल हो जाती है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 33: चाहत या इच्छा तब पैदा होती है, जब आप खुश नहीं होते, क्या आपने देखा है? जब आप बहुत खुश होते हैं तब संतोष होता है, संतोष का अर्थ है कोई इच्छा ना होना।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 34: तुम्हारा मस्तिष्क भागने की सोच रहा है और उस स्तर पर जाने का प्रयास नहीं कर रहा है जहाँ गुरु ले जाना चाहते हैं, तुम्हें उठाना चाहते हैं।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 35: जीवन में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसके प्रति बहुत गंभीर रहा जाए। जीवन तुम्हारे हाथों में खेलने के लिए एक गेंद की तरहहै । गेंद को पकड़े मत रहो।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 36: दूसरों को सुनो फिर भी मत सुनो। अगर तुम्हारा दिमाग उनकी समस्याओं में उलझ जाएगा फिर ना सिर्फ वो दुखी होंगे बल्कि तुम भी दुखी हो जओगे।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 37: मानव विकास के दो चरण है – कुछ होने से कुछ ना होना, और कुछ ना होने से सबकुछ होना। यह ज्ञान दुनिया भर में योगदान और देखभाल ला सकता है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 38: श्रद्धा यह समझने में है कि आप हमेशा वो पा जाते हैं जिसकी आपको ज़रुरत होती है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 39: प्रेम कोई भावना नहीं है, यह आपका अस्तित्व है।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 40: मैं आपको बताता हूँ, आपके अन्दर एक परम आनंद का फव्वारा है, प्रसन्नता का झरना है। आपके मूल के भीतर सत्य, प्रकाश और प्रेम है, वहां कोई अपराध बोध नहीं है, वहां कोई डर नहीं है। मनोवैज्ञानिकों ने कभी इतनी गहराई में नहीं देखा।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 41: भरोसा रखना कि वहाँ आपकी कमजोरी को दूर करने के लिए कोई बैठा है। ठीक है, आप एक बार सोते हो, दो बार, तीन बार। ये कोई मायने नही रखता, मायने तो सिर्फ आपका आगे बढ़ना रखता है। इसीलिए कमजोरियों की चिंता किये बिना ही सतत आगे बढ़ते रहे।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 42: आज भगवान का दिया हुआ एक उपहार है, इसीलिए इसे 'PRESENT' कहते हैं।"
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर

Quote 43: जिसे तुम चाहते हो उससे प्रेम करना नगण्य है। किसी से इसलिए प्रेम करना क्योंकि वह तुमसे प्रेम करता है यह महत्वहीन है। किसी ऐसे से प्रेम करना जिसे तुम नहीं चाहते, मतलब तुमने जीवन से कुछ सीखा है। किसी ऐसे से प्रेम करना जो तुमसे घृणा करे यह दर्शाता है की तुमने जीवन जीने की कला सीख ली।
Sri Sri Ravi Shankar श्री श्री रवि शंकर
यह भी पढ़ें:-

Note: - आप अपने comments के माध्यम से बताएं कि Sri Sri Ravi Shankar Quotes in Hindi आपको कैसा लगा।
Share it:

Hindi Quotes

Post A Comment:

0 comments: